Reprogram Subconscious Mind Can Be Fun For Anyone






जॉब में प्रमोशन की बात हो तो उसके साथ वो फिर ये भी बात कर सकती थी कि प्रमोशन के बाद वो कैसी पर्स लेकर ऑफिस जाया करेंगी या कैसे कपडे पहनेंगी. जहाँ तक करियर की बात है, सुमति को कोई अंदाजा नहीं था कि इस नए जीवन में उसका क्या करियर है या क्या जॉब है. शादी के बाद वो काम कर सकेगी या नहीं? भले ही घर की छोटी छोटी चीजें वो संभालना चाहती थी पर वो अपनी जॉब नहीं छोड़ना चाहती थी… चाहे जैसी भी जॉब हों. और फिर क्या वो शादी के बाद माँ बनना पसंद करेगी? बड़ा भारी सवाल था जिसका जवाब अभी वो सोचना नहीं चाहती थी.

"I like techniques three and 4 most. Producing desires after which examining them regarding what they really necessarily mean to us. It appears to be like ridiculous, but I loved it. It is easy to manage our ideas and knowing that what we are actually considering our lifestyle. Many thanks!"..." extra AR Aryan Rao

“देख रही हों अंजलि तुम? मैंने इसे गले लगाने कहा और यह मेरी आज्ञा की अवहेलना कर मेरे पैर छू रही है. मुझे तुरंत एक हग चाहिए!

“ओह कुछ ख़ास नहीं माँ जी. मैं तो बस पोहा बना रही थी आप लोगो के लिए. आशा है कि आप लोगो को पोहा पसंद है.”, सुमति ने प्यार से जवाब दिया. उसने तुरंत अपने पल्लू को कमर से निकाला और फिर अपने सर को ढकने लगी.

कोई भी औरत ऐसा करेगी जब कोई आदमी अचानक ही उसके कमरे में चला आये.

नमते आंटी! आइये आइये आप ही का इंतज़ार था”, सुमति अपने भाई रोहित की आवाज़ सुन रही थी. आखिर सुमति के सास-ससुर आ ही गए थे. उसने झट से अपने बालो को पीछे बाँधा और उनसे मिलने के लिए बाहर जाने को तैयार हो गयी. “मुझे जल्दी करनी होगी. वरना उन्हें अच्छा नहीं लगेगा कि उनकी होने वाली बहु उनके स्वागत के लिए बाहर तक नहीं आई. पर क्या मुझे यह फिक्र करनी चाहिए? एक औरत को तैयार होने में हमेशा से ज्यादा समय लगता है.. ये तो वो भी जानते होंगे.”, सुमति यह सब सोचते हुए अपने पल्लू और अपनी साड़ी को एक बार ठीक करते हुए पल्लू को हाथ में पकडे बाहर के कमरे की ओर जाने लगी. उसने अपने हाथों से पल्लू को पीठ पर से अपने दांये कंधे पर से सामने खिंच कर ले आई ताकि उसके स्तन और ब्लाउज को छुपा सके. सुमति एक पारंपरिक स्त्री की तरह महसूस कर रही थी इस वक़्त. उसने एक बार चलते हुए खुद को आईने में देखा. “साड़ी तो ठीक लग रही है. शायद रोहित और चैतन्य की तरह मेरे सास-ससुर को भी याद न होगा कि मैं कभी लड़का थी.

“अरे पगली… रहने दे तुझे सर ढंकने की ज़रुरत नहीं. है. मैं भी औरत हूँ. क्या मैं नहीं जानती सर पे here पल्लू करके खाना बनाना कितना कठिन है? न तो ढंग से कुछ दिखाई देता है और फिर हाथ भी अच्छी तरह पल्लू के साथ हिल नहीं पाते. तू तो मेरी बेटी है. बचपन से तुझे अपनी आँखों के सामने बड़ी होते देखा है… जबसे तू Reprogram Subconscious Mind फ्रॉक पहना करती थी. तब से सलवार सूट तक तुझे बढ़ते देखा है. और अब तू साड़ी भी पहन रही है.

सुमति की बातें सुनकर चैतन्य चुप चाप पीछे हो लिया और सुमति से बोला, “सुमति मैं जानता हूँ की हम दोनों बचपन से अच्छे दोस्त रहे है.

Suggestion: EquiSync® trains the brainwaves of your subconscious/ unconscious mind degrees (Alpha, Theta, Delta) via a super Harmless & hugely helpful sound technologies. You are invited to learn more regarding how it really works on the web site.

They must assist keep you potent mentally. Superior desires, meanwhile, have Added benefits just like daydreaming - they make you are feeling good and they improve creative imagination/creativity. Goals don't have any Actual physical outcomes outside of supporting keep your brain chemistry in Test. When you learn that, one example is, you glimpse or truly feel even worse When you've got nightmares, it isn't really a result of the nightmares - It is much more likely that you are just in the very poor psychological and/or physical state, that is causing both the nightmares plus the Actual physical indications.

बड़े भाई के रूप में भी सुमति अपने छोटे भाई रोहित को हमेशा से ही प्यार करती थी और उसका ध्यान रखती थी.

सुमति अपनी साड़ी में बहुत सुन्दर लग रही थी. वो आज अपने तन को छूकर महसूस करना चाहती थी.

Bear in mind that your Aware mind could distract this facts from registering about the Subconscious mind if this is mostly done while awake.

माली के होश उड़ गए, कांपता हुआ बोला--हुजूर।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *